World of Education Global Organization

मध्य प्रदेश में चाय बेचने वाली की बेटी अब फाइटर प्लेन उड़ाएगी

2 years ago | 2 years ago | afrex

मध्य प्रदेश में चाय बेचने वाली की बेटी अब फाइटर प्लेन उड़ाएगी। मध्यप्रदेश के नीमच बस स्टैंड के पास चाय बेचने वा्ले सुरेश गंगवाल की बेटी आंचल गंगवाल का चयन भारतीय वायुसेना के फ्लाइंग ब्रांच में हुआ है। आचंल अब एसरफोर्ट के फाइटर प्लेन उड़ाएगी, हालांकि ये कामयाबी उसके लिए आसान नहीं थी। असफलताओं के बाद लगातार प्रयास से उन्हें ये सफलता मिली है। आंचल का परिवार बेटी की इस सफलता से बेदह खुश हैं। बधाई देने वालों का तांता लगा हुआ है।

मध्य प्रदेश में चाय बेचने वाली की बेटी अब फाइटर प्लेन उड़ाएगी

चायबेचने वाली की बेटी उड़ाएगी फाइटर प्लेन

मध्य प्रदेश की नीमच बस स्टैंड के बाद चाय की दुकान चलाने वाली सुरेश की बेटी आंचल का चयन हुआ है। आंचल को ये खुशखबरी 7 जून को मिली। ये खुशखबरी आंचल को पांच असफलताओं के बाद मिली है। पांच बार इंटरव्यू गाउंड तक पहुंचने के बाद भी जब उसका चयन एयरफोर्स के लिए नहीं हुआ तो भी आंचल ने मायूसी को अपने ऊपर हावी नहीं होने दिया और लगातार प्रयास जारी रखा। आखिरकार आंचल को सफलता मिली और उसका चयन एयरफोर्स के फ्लाइंग ब्रांच में हो गया।

मध्य प्रदेश में चाय बेचने वाली की बेटी अब फाइटर प्लेन उड़ाएगी

मध्य प्रदेश में चाय बेचने वाली की बेटी अब फाइटर प्लेन उड़ाएगी

उत्तराखंड त्रासदी से मिली प्रेरणा

आंचल ने कहा कि साल 2013 में जब उत्तराखंड में बाढ़ की त्रासदी आई तो उस वक्त एयरफोर्स के काम के तरीके से वो बेहद प्रभावित हुई। उस त्रासदी में जिस तरह से भारतीय वायुसेना ने बचाव अभियान को अंजाम दिया था, उसी से उसे प्रेरणा मिली और उन्होंने वायु सेना में जाने का फैसला किया। आंचल ने कहा कि उस वक्त मेरे परिवार की स्थिति सही नहीं थी, लेकिन मैंने अपना प्रयास जारी रखा और छठी बार में सफलता हासिल की। आंचल का चयन देश भर में चुने गये 22 चयनित कैंडिडेट में हुआ है। आपको बता दें कि करीब 6 लाख स्टूडेंट्स इस परीक्षा में शामिल हुए थे, जिसमें से 22 का चयन हुआ।

मध्य प्रदेश में चाय बेचने वाली की बेटी अब फाइटर प्लेन उड़ाएगी

Image Source


पिता का सिर गर्व से ऊंचा

मध्य प्रदेश में चाय बेचने वाली की बेटी अब फाइटर प्लेन उड़ाएगी

आंचल की इस सफलता पर पिता सुरेश गंगवाल गर्व से भर गए हैं। उन्होंने कहा कि बेटी की सफलता के बाद लोग उनके नामदेव टी स्टॉल को अच्छे से पहचान गए हैं। उन्होंने कहा कि उन्होंने अपनी गरीबी को कभी भी अपने बच्चों की पढ़ाई के बीच नहीं आने दिया। अब लोग उन्हें बेटी की सफलता के लिए बधाईयां दे रहे हैं। पूरा परिवार आंचल की सफलता से बेहद खुश है।

Recommended
Please Like and Share...