World of Education Global Organization
View MCQ Questions in Both or English || Hindi Language

चालक लोमड़ी और घमंडी कौआ

3 years ago | motivation

चालक लोमड़ी और घमंडी कौआ

यह छोटी सी कहानी एक चालक लोमड़ी की है जो सभी लोगों के लिए काफी दिलचस्प है। इस कहानी को पढ़े और इसे दुसरो तक शेयर करे ।

एक पेड़ पर एक कौवा रहता था , एक दिन उसे बहुत भूख लगी थी। वह पिछले दिन किसी भी भोजन को प्राप्त करने में सक्षम नहीं हो पाया था। उसने सोचा, "अगर मुझे खाने के लिए कुछ नहीं मिलता तो मैं मौत की भूख लूँगा"(मतलब मर जाऊंगा)

कौवा अपने भोजन की खोज कर रहा था, तो उसकी नज़र एक  रोटी के एक टुकड़े पर गईं। वह जल्दी से उसे उठाने के लिए नीचे झुका, उसे उठाया और अपनी चोंच में बंद कर उड़कर दूर एक अकेली जगह में वह रोटी का आनंद लेने के लिए एक पेड़ पर बैठ गया।

नीचे से जाती हुई एक भूखी लोमड़ी ने कौवे केे मुंह में रोटी के टुकड़े को पकड़े हुए वृक्ष पर बैठे देखा।

 "स्वादिष्ट! वह रोटी स्वादिष्ट लगती है क्या मैं रोटी का टुकड़ा पाने के लिए एक तरकीब लगाता हु की मुझे वह रोटी का टुकड़ा मिल जाए, "लोमड़ी ने सोचा

लोमड़ी ने कौवे के मुंह से रोटी का टुकड़ा पाने के लिए अपने सभी चालक साधनों और अक्ल का उपयोग करने का निर्णय लिया। वह पेड़ के नीचे बैठ गई थी । कौवा ने उसे देखा और सोचा, "मुझे लगता है कि यह लोमड़ी मेरी रोटी खाना चाहती है मैं इसे ध्यान से रखता हूं। "और उसने रोटी को और भी कसकर पकड़ लिया।

चतुर लोमड़ी ने कौवे से विनम्रता से बात की। लोमड़ी ने कहा, "नमस्ते दोस्त! आप कैसेै हो? "लेकिन कौवा ने कुछ नहीं कहा।

"कौवे ऐसे सुंदर पक्षी होते हैं, लेकिन आप उन सब से ज्यादा आकर्षक हैं, "लोमड़ी ने कहा।
फिर भी कव्वे पर असर न हुआ ।

तो लोमड़ी ने कहा, "मैंने सुना है कि सुंदर होने के अलावा आपके पास एक प्यारी आवाज भी होती है। कृपया मेरे लिए एक गीत गाएं।"

फिर तो कव्वे ने , लोमड़ी पर विश्वास करना शुरू कर दिया और लोमड़ी की बातों को को मानते हुए उसने मन में सोचा कि "लोमड़ी सच सुंदरता जानता है मुझे इस पूरे विश्व में सबसे सुंदर पक्षी होना चाहिए। मैं उसे एक गाना सुनाऊँगा, "कौवे ने सोचा

जैसे ही मूर्ख कौवे ने अपने मुंह को गाना गाने के लिए खोला वेसे ही उसकी चोंच से रोटी जमीन पर गिर गई, लोमड़ी तो इसी क्षण के लिए इंतजार कर रही थी, फिर क्या लोमड़ी ने रोटी के टुकड़े को मुंह में पकड़ा और उसे जल्दी से खाँ लिया।

कौवे ने अपना माथा उस पेड़ से ढोकने लग गया और उसकी किस्मत को कोशने लगा ।


कहानी से हमें सीख


कभी भी किसी भी व्यक्ति पर जरुरत से ज्यादा और जल्दी से भरोसा और अपने ऊपर कभी घमंड नहीं करना चाहिए ।

कहानी पसंद आई होतो तो कृपया इसे आगे शेयर करे ---

Recommended
Please Like and Share...